राजगिरा के लड्डू | Rajgira ke ladoo | Recipes for Diwali

राजगिरा के लड्डू | Rajgira ke ladoo | Recipes for Diwali post thumbnail image
Spread the love

राजगिरा के लड्डू | Rajgira ke ladoo | Recipes for Diwali

राजगीरा (या रामदाना) जिसे ऐमारैंथ बीज के रूप में भी जाना जाता है, उपवास के दिनों में हिंदुओं के लिए एक लोकप्रिय भोजन विकल्प है। गैर-अनाज खाद्य श्रेणी के तहत प्राथमिक कारणों में से एक है कि राजगीरा उपवास के दौरान इतना पसंदीदा क्यों है।

राजगिरा के लड्डू के( Rajgira ke ladoo ) पक्ष में एक और कारण यह है कि पोषण में उच्च है- राजगिरा कैल्शियम, प्रोटीन और अमीनो एसिड में समृद्ध है। यह आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन ए, बी और सी का एक समृद्ध स्रोत है।

Rajgira ke ladoo

Rajgira Ke Ladoo

वास्तव में, अगर हम राजगीरा की तुलना सुपर फूड में अग्रणी दावेदारों में से एक यानी क्विनोआ से करते हैं, तो इन दोनों के बीच का अंतर स्पष्ट है- पके हुए ऐमारैंथ के एक कप में 252 कैलोरी और कुल कार्बोहाइड्रेट के 46 ग्राम होते हैं, 222 कैलोरी के साथ क्विनोआ की तुलना में और 40 ग्राम कार्ब्स।

 

बालूशाही रेसिपी पढने के लिये यहा क्लिक करे

 

1-कप सर्विंग में ऐमारैंथ में 9 ग्राम प्रोटीन होता है, जबकि क्विनोआ में 8 ग्राम होता है। दोनों अनाज मैग्नीशियम और जस्ता के समृद्ध स्रोत हैं। वे लोहे को बढ़ावा भी देते हैं, लेकिन अमृत में क्विनोआ की तुलना में दो गुना अधिक है।

दो बीजों के बीच एक हड़ताली अंतर उनकी कीमत के रूप में आता है। क्विनोआ की तुलना में ऐमारैंथ बीज आधी कीमत पर उपलब्ध है।

इतिहास को देखते हुए, कोई भी एज़्टेक जनजाति के लिए अपनी जड़ों का पता लगा सकता है।ऐमारैंथ सीड्स न केवल एज़्टेक जनजाति के मुख्य भोजन के रूप में, बल्कि उनके धार्मिक समारोहों का हिस्सा भी बने।

एज़्टेक के स्पेनिश आक्रमण के साथ, बाद में पुन: योगदान देने के लिए ऐमारैंथ बीज ने अस्थायी रूप से अपना महत्व खो दिया। यह 1970 में अमेरिकी अनुसंधान प्रयोगशालाओं में शोध शुरू किया गया था और फिर से हजार एकड़ भूमि में खेती की गई थी।

दुनिया में सबसे पौष्टिक अनाज के रूप में कहा जाता है, भारत में ऐमारैंथ बहुतायत में उगता है- हिमालय से, उत्तर और दक्षिण भारत के मैदानी इलाकों से और देश के पश्चिम, पूर्व और दक्षिण के तट से।

काफी अजीब बात है, हमने राजगीरा के बीजों का उपयोग व्रत और उत्सव के दिनों तक सीमित कर दिया है। इसके जबरदस्त स्वास्थ्य लाभों को जानने के बाद, मुझे आशा है कि अधिक से अधिक लोग राजगीरा को अपने रोजमर्रा के आहारों में शामिल करना शुरू करेंगे।

राजगिरा का उपयोग अक्सर राजगिरा के आटे से बने व्यंजन जैसे- राजगिरा के लड्डू ( Rajgira ke ladoo ), खीर में डाली जाने वाली राजगिरा, रोटियों और पराठों में किया जाता है।

राजगिरा लड्डू ( Rajgira ke ladoo )को थोक में बनाया जा सकता है और एक एयर-टाइट कंटेनर में संग्रहीत किया जा सकता है। यह आपके बच्चों के लिए एक स्वस्थ पौष्टिक विकल्प हो सकता है।

यह मकर संक्रांति, हमने इस सुपरफूड के साथ लाडो बनाने का फैसला किया। इन कुरकुरा, स्वादिष्ट और सेहतमंद राजगिरा लाडो को बनाइए और अपनी प्रतिक्रिया हमें नीचे कमेंट सेक्शन में साझा करें।

 

नारियल लड्डू के 2 प्रकार कि रेसिपी पढने के लिये यहा क्लिक करे

 

राजगिरा के लड्डू बनाने कि सामग्री: ingredients for rajgira ke ladoo

  • राजगिरा – 1 कप (150 ग्राम)
  • गुड़ – 1 कप ( 250 ग्राम)
  • घी – 2-3 छोटे चम्मच
  • किशमिश – 2 टेबल स्पून (यदि आप चाहें)
  • काजू – 2 टेबल स्पून (यदि आप चाहें)

राजगिरा के लड्डू बनाने कि विधि: Instructions for Rajgira Ke Ladoo

  1. भारे तले की कढ़ाई को अच्छी तरह गरम कीजिये, 1 छोटा चम्मच राजगिरा के दाने डालिये और लगातार हिलाते हुये उन्हैं भूनिये, तुरन्त ही राजगिरा के दाने फूलने लगते हैं, जैसे ही सारे दाने फूल जायें, उन्हैं प्याले में निकाल लीजिये और इस प्रक्रिया को दुहराते हुये सारे राजगिरा को भून लीजिये।
  2. भुने हुये राजगिरा को छलनी में छान लीजिये, भुने हुये राजगिरा 3 कप हो जाते हैं, जो राजगिरा फूले नहीं हैं वह छलनी से नीचे आ जायेंगे उन्हैं अलग कर लीजिये, लड्डू बनाने के लिये फूले हुये राजगिरा यूज कीजिये।
  3. गुड़ को बारीक तोड़ लीजिये। काजू बारीक काट लीजिये। किशमिश के डंठल तोड़ लीजिये और कपड़े से पोंछ लीजिये।
  4. कढ़ाई में 2 छोटे चम्मच घी डाल दीजिये, घी को पिघलने पर गुड़ डाल दीजिये, 1-2 टेबल स्पून पानी डाल दीजिये, और गुड़ को पिघलने दीजिये, गुड के पूरी तरह से मेल्ट होने के बाद, 1-2 मिनिट पका लीजिये, गुड़ में झाग दिखाई देने लगते हैं।
  5. चाशनी बन कर तैयार है, गुड़ में अगर कुछ गंदगी दिखाई दे रही हैं तो चाशनी को छान लीजिये, और राजगिरा में मिला दीजिये, काजू और किशमिश भी डाल दीजिये, सारी चीजें अच्छी तरह से मिला दीजिये। लड्डू बनाने के लिये मिश्रण तैयार है।
  6. गरम गरम मिश्रण से लड्डू बनाइये, हाथों पर थोड़ा सा पानी लगाकर गीला कीजिये, थोड़ा सा मिश्रण उठाइये और दोनों हाथों से गोल करके लड्डू बनाइये और प्लेट में लगा दीजिये, फिर से हाथ गीला कीजिये।
  7. और मिश्रण उठाइये और लड्डू बनाकर प्लेट में रख लीजिये, हर लड्डू बनाने से पहले हाथ गीला कर लीजिये, इसी तरह सारे लड्डू बना कर तैयार कर लीजिये।
  8. राजगिरा के लड्डू ( Rajgira ke ladoo ) 3-4 घंटे हवा में खुले रहने दीजिये।

अब इन्हैं कन्टेनर में भर कर रख लीजिये और 1 महिने तक खाते रहिये।

 

राजगिरा के लड्डू | Rajgira ke ladoo | Recipes for Diwali

अगर आपको हमारा ब्लोग किचन तडका पसंद आया हो तो आप हमे सबस्क्राईब करे और कमेंट कर अपनी राय दे…


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Post

recipe of karanji

करंजी रेसिपी | Recipe of Karanjiकरंजी रेसिपी | Recipe of Karanji

Spread the love1Shareकरंजी रेसिपी | Recipe of Karanji करंजी एक महाराष्ट्रीयन स्वीट स्नैक है जो अक्सर दिवाली और गणेश चतुर्थी जैसे उत्सवों के लिए बनाया जाता है। करंजी भी मीठे

chakali recipe in hindi

घर में बनी गेहू की चकली रेसिपी | WHEAT CHAKLI RECIPE IN HINDIघर में बनी गेहू की चकली रेसिपी | WHEAT CHAKLI RECIPE IN HINDI

Spread the love3Sharesगेहू की चकली रेसिपी  | WHEAT CHAKLI RECIPE IN HINDI चकली अनेक तरह से बनाई जाती है। इसे चावल के आटे में में दाल का आटा और बेसन